रिश्तों में शिकवों के ५ सॉल्यूशन
Facebook0Twitter0StumbleUpon0Pinterest0Reddit0WhatsApp

रिश्तों में शिकवों के ५ सॉल्यूशन
१.अगर आप अपने स्वास्थ्य का ख्याल रखेंगी, तभी आप जीवनसाथी का भी बेहतर ढंग से ख्याल रख पाएंगी। इस तरह लड़ाई की स्थिति में आप खुद पर नियंत्रण बनाए रख सकेंगी एवं आपका पूरा ध्यान समस्या के समाधान पर होगा। इसलिए अपने खानपान में समुचित पोषण, प्रोटीन, विटामिन इत्यादि शामिल करें। भरपूर नींद लें, इससे आप तनाव से दूर रहेंगी और तरोताजा महसूस करेंगी। परिवार और दोस्तों से मेल मुलाकातों से भी तनाव दूर होता है।

२. ८०;२० अनुपात

अगर आप अपने रिश्ते को सफल बनाना चाहती हैं तो अपनी ८० प्रतिशत ऊर्जा खुद को बेहतर जीवनसाथी बनाने में लगाएं। जीवनसाथी को अपने अनुकूल ढालने में आपको मात्र २० प्रतिशत ऊर्जा खर्च करनी चाहिए। इसकी वजह है कि किसी और से ज्यादा खुद पर आपका अख्तियार होता है। जीवनसाथी की अगर आपसे कुछ शिकायतें हैं तो आपको उसकी जिम्मेदारी लेने से गुरेज नहीं होना चाहिए। शिकायतों की तह में जाकर समस्या को समझने की कोशिश करें और आवश्यकतानुसार खुद को बदलने की कोशिश करें। इससे आप न सिर्फ स्वयं अच्छा महसूस करेंगी, बल्कि साथी को भी अच्छा लगेगा और आपके रिश्ते से तनाव दूर होगा।

३. शब्दों का जाने मर्म

साथी के महज शब्दों को सुनकर प्रतिक्रिया देने के बजाय उनके पीछे छिपे अर्थ को समझने का प्रयास करें। ऐसी ही अपेक्षा आप अपने साथी से कर सकती हैं। एक-दूसरे को गहराई से जानना, बिना कहे ही एक-दूसरे की बात समझना, एक-दूसरे की खुशी का ख्याल ही तो दांपत्य में दो लोगों को करीब लाता है। जीवनसाथी की बात के मर्म को समझने का यह अर्थ कतई नहीं है कि आप उनकी हर बात पर सहमत हों। इसका सिर्फ एक ही मतलब है कि आप उन्हें समझती हैं। जब आप उन्हें इस तरह समझेंगी तो यह महसूस कर सकेंगी कि उनके लिए कोई विशेष बात कितना मायने रखती है। यह अहसास बहुत अहमियत रखता है कि आपको कोई समझता है। ऐसा होने पर समस्या का समाधान सुनिश्चित करने के लिए प्रयास करने में आपको हिचक नहीं होती।

४. समाधान पर हो नजर

किसी समस्या को लेकर बहस पर अड़े रहने के बजाय आपका जोर उस समस्या के समाधान पर होना चाहिए। आपका नजरिया स्पष्ट होना चाहिए कि आप क्या चाहती हैं। साथ ही अपने पक्ष को मजबूती से रखना आपको आना चाहिए। आपका ध्यान मूल मुद्दे से इधर-उधर नहीं जाना चाहिए। व्यवहारिक दृष्टि से चीजों को व्यवस्थित करते हुए आगे बढ़ने की कोशिश करनी चाहिए।

५. प्यार में वो जादू है..

जिंदगी में तमाम मुश्किलें होती हैं। हम सभी किसी न किसी मोड़ पर जिंदगी की मुश्किलों से जूझते नजर आते हैं, ऐसे में दूसरों के प्रति अपने हृदय में सहृदयता और प्रेम के भावों को जगह देना जरूरी है। जीवनसाथी के लिए भी मन में ये भावनाएं होनी चाहिए। इससे दोनों के ही जीवन में खुशियों का संचार होता है। व्यस्त जिंदगी की तमाम उलझनों के बीच भी पूरे दिन आपके दिलो-दिमाग पर प्यार ही बिखरा रहे, यह जरूरी नहीं, पर एक खुशहाल रिश्ते का यह आधार है। प्यार के मीठे बोल में वह जादू है, जो सारी थकान दूर कर देता है। यह भी सच है कि प्यार के बदले में आपकी जिंदगी में प्यार ही दस्तक देगा।

क्विक फिक्स

दांपत्य जीवन में तरकार होना स्वाभाविक है, पर उन्हें बढ़ने नहीं देना चाहिए। कुछ क्विक टिप्स तकरार दूर करने के

– चाय या काफी बनाएं और साथी के साथ बैठकर उसे एंजॉय करें। इस दौरान तकरार भूलकर प्यार भरी बातों का सिलसिला शुरू करें। थोड़ी ही देर में इस चाय-काफी की गर्माहट में आपके बीच के मनमुटाव भी घुलते नजर आएंगे।

– अक्सर ऐसा होता है कि आप अपनी पसंद का सीरियल देखना चाहती हैं, जबकि वह अपना फेवरेट मैच। जब बात उन्हें मनाने की हो तो इससे बढि़या क्या होगा कि आप खुद ही उनका पसंदीदा चैनल लगाकर रिमोट उनके हाथ में थमा दें। इससे उनके चेहरे पर भी मुस्कराहट आ जाएगी।

– किसी अच्छे दोस्त को खाने पर आमंत्रित करें। इस तरह आपको बातों का सिलसिला शुरू करने में मदद मिलेगी। खुशमिजाज माहौल में धीरे-धीरे आपका झगड़ा भी मिट जाएगा।

– बातचीत बंद है तो उसे शुरू करने का एक अच्छा उपाय है कि घर के किसी मसले को लेकर बातचीत का सिलसिला शुरू करें। तब वह भी आपको अनसुना नहीं कर सकेंगे। इस तरह आप सामान्य बातों पर चर्चा कर सकती हैं।

राधिका गुप्ता

 
Spread the Word - brahm samaj
 
market decides
 
Brahmin Social Network
 
Sponsors
 
jeevanshailee
 
 
 
Brahm Samaj Events