आदिगौड़ ब्राह्मण कौन हैं?
Facebook0Twitter0StumbleUpon0Pinterest0Reddit0WhatsApp

संस्कृत पुस्तक आदिगौड़ दीपिका के अनुसार गण्डकी नदी के पश्चिम में वो क्षेत्र जो सरयू नदी तथा उत्तर में हिमालय से घिरा हुआ है उसको गौड देश से जाना जाता था और जो ब्राह्मण इस क्षेत्र में सृष्टी के प्रारंभ से रहते थे उनको आदिगौड़ से जाना जाता है. एक अन्य किवदंती के अनुसार भगवान राम के अश्वमेघ यज्ञ में कुछ ऋषियों ने सीता माता के निष्काशन को लेकर सामिल होने से इंकार कर दिया था. वे बाद में राजभय से गौड़ देश में आकर बस गए और अन्य मनुष्यों की तरह जीवन यापन करने लगे. इन्ही के वंसज (ऋषि पुत्र) आदिगौड़ ब्राह्मण कहलाये.

 
Spread the Word - brahm samaj
 
market decides
 
Brahmin Social Network
 
Sponsors
 
jeevanshailee
 
 
 
Brahm Samaj Events